OECD – कुक आइलैंड्स

28.10.2016 को, पेरिस में आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (OECD) मुख्यालय में, श्री एंड्रयू हैग जो कुक आइलैंड्स इंटरनल टैक्स कलेक्टर हैं, ने कर मामलों में पारस्परिक प्रशासनिक सहायता के लिए बहुपक्षीय सम्मेलन पर हस्ताक्षर किए।

आज तक, यह कन्वेंशन अंतर्राष्ट्रीय कर सहयोग के लिए सबसे शक्तिशाली साधन है।

यह कर मामलों में प्रशासनिक सहायता के सभी प्रकार प्रदान करता है जैसे अनुरोध पर सूचना का आदान-प्रदान, सहज विनिमय, स्वचालित विनिमय, विदेश में कर आडिट करने की क्षमता, साथ ही कर लेखा परीक्षा और कर संग्रह में सहायता। यह करदाताओं के अधिकारों की सुरक्षा की गारंटी देता है।

अक्टूबर 2015 में कुक आइलैंड्स पर हस्ताक्षर किए गए कर सूचनाओं के स्वचालित एक्सचेंज पर बहुपक्षीय समझौते के साथ यह सम्मेलन, कुक आइलैंड्स को 2018 तक इस तरह की जानकारी का आदान-प्रदान करने के लिए अपने दायित्वों को पूरा करने में सक्षम करेगा।

इस सम्मेलन का उपयोग बीईपीएस – बेस एरोसन प्रॉफिट शिफ्टिंग परियोजना के तहत OECD/G20 पारदर्शिता उपायों के त्वरित कार्यान्वयन के रूप में भी किया जा सकता है। इसका सार आय सृजन के लिए 15 मानदंडों की परिभाषा है, जिसके आधार पर यह निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि क्या कर आधार का गैर-भुगतान या आंशिक क्षरण हुआ है।

परियोजना देश से देश के लिए कर जानकारी के आदान-प्रदान, साथ ही साथ BEPS परियोजना के अनुसार सहयोगात्मक निर्णय प्रदान करती है। कन्वेंशन नाजायज वित्तीय प्रवाह के खिलाफ लड़ाई में एक शक्तिशाली उपकरण भी है।

1988 में OECD और यूरोप काउंसिल द्वारा संयुक्त रूप से सम्मेलन का विकास किया गया था और सूचना के आदान-प्रदान के लिए अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप इसे लाने और इसे सभी देशों के लिए खोलने के लिए G20 से बोली लगाने के जवाब में 2010 में संशोधन किया गया, इस प्रकार देश का विकास और उन्हें अधिक पारदर्शी वातावरण से लाभान्वित करने में सक्षम बनाना।

पिछला लेख अगला लेख